तमिलनाडु राज्य का इतिहास कुल जिले मुख्य भाग और राज्य के प्रमुख स्थान

Social share

तमिलनाडु राज्य का इतिहास:

आधुनिक भारतीय इतिहास में अंग्रेजों का जो ईस्ट इंडिया कंपनी का 1639 में आगमन हुआ। सन 1901 में मद्रास प्रेसिडेंट की स्थापना हुई, जिसमें दक्षिणी प्रायद्वीप के अधिकतर भाग सम्मिलित हैं। बाद में संयुक्त मद्रास राज्य का पुनर्गठन किया गया और वर्तमान राज्य तमिलनाडु अस्तित्व में आया। 14 जनवरी 1969 को इस राज्य का नाम तमिलनाडु कर दिया गया। 1996 में मद्रास का नाम चेन्नई कर दिया गया, यह जानकारी जरूर रूप से पढ़िए।

तमिलनाडु राज्य

प्रतीक चिन्ह:

  1. राज्य पशु – नीलगिरी तहर ( नीलगिरीतराग्स हिलोक्रिअस)
  2. प्रदेश पक्षी – एमराल्ड कबूतर (चालकॉप्स इंडिका)
  3. फूल – ग्लोरियोसा लिली (ग्लोरियोसा सुपरबा)
  4. राज्य फल – कटहल ( आर्टोकार्पस हेट्रोफिलस)
  5. प्रदेश का मुख्य पेड़ – ताड़ का पेड़ ( बोरसस फ्लेबेलिफर)
  6. तमिल – मां के लिए गान तामीā ता वलतु निमंत्रण
  7. राज्य सील – श्रीविल्लिपुथुर अंडाल मंदि

दक्षिण भारत का क्षेत्रफल में सबसे बड़ा राज्य तमिलनाडु है जिसमें 37 जिल है–

  1. कन्याकुमारी ( Kanyakumari )
  2. तिरुनेलवेली ( Tirunelveli )
  3. तूतूकुड़ी ( Thoothukudi )
  4. तेनकाशी ( Tenkasi )
  5. विरुधुनगर ( Virudhunagar )
  6. रामनाथपुरम ( Ramanathapuram )
  7. शिवगंगा ( Shivganga )
  8. मदुरई ( Madurai )
  9. तेनी ( Theni )
  10. डिंडीगुल ( Dindigul )
  11. तिरूपुर ( Tiruppur )
  12. कोयंबटूर ( Coimbatore )
  13. नीलगिरी ( Nilgiri )
  14. इरोड ( Erode )
  15. नामक्कल ( Namakkal )
  16. करूर ( Karur )
  17. तिरुचिरापल्ली ( Tiruchirappalli )
  18. पुदुकोत्तई ( Pudukkottai )
  19. तंजावुर ( Thanjavur )
  20. तिरुवारूर ( Tirvarur )
  21. नागपट्टीनम ( Nagapattinam )
  22. अरियालूर ( Ariyalur )
  23. पेरंबलूर ( Perambalur )
  24. सेलम ( Salem )
  25. धर्मपुरी ( Dharmapuri )
  26. कल्लाकुरीची ( Kallakurichi )
  27. कुड्ड्लोर ( Cuddalore )
  28. विलुप्पूरम ( Viluppuram )
  29. तिरुवन्नामलाई ( Tiruvannamalai )
  30. कृष्णागिरी ( Krishnagiri )
  31. तिरूपत्तूर ( Tirupattur )
  32. वेल्लूर ( Vellore )
  33. रानीपेट ( Ranipet )
  34. कांचीपुरम ( Kanchipuram )
  35. चैंगलपट्टू ( Chengalpattu )
  36. तिरुवनलूर ( Thiruvallur )
  37. चेन्नई ( Chennai )

राज्य के भाग:

तमिलनाडु राज्य का क्षेत्रफल 1,30,058 वर्ग किलोमीटर है। तमिलनाडु के उत्तर भाग में यह प्रदेश है, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक, पश्चिम में केरल, पूर्व में बंगाल की खाड़ी स्थित है तथा दक्षिण में हिंद महासागर है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई है। 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या 7,21,47,030 है। लिंग अनुपात 2011 के अनुसार 995 है, जनसंख्या घनत्व 555 है। वृद्धि दर 2001 से 2011 के बीच में 15.7 परसेंट रही है, साक्षरता दर 80.1% है। तमिलनाडु में कुल 32 जिले हैं। यहां की मुख्य भाषा तमिल और विधान है। मंडल एक सदनीय है, विधानसभा सदस्य 234 है, लोकसभा सदस्य 39 तथा राज्य सभा सदस्य 18 है।

यह भी पढ़िए:

भारत देश के राज्य केंद्र शासित प्रदेश और सभी प्रदेशो की राजधानियों की सूची

प्रमुख स्थान:

महेंद्रगिरी – कन्याकुमारी जिले में स्थित चोटी, जिससे अवरुद्ध होकर मानसून बर्स्ट घटना होती है एवं इसी से मानसून दो शाखाओं में विभक्त होता है।
मेट्टूर बांध – तमिलनाडु के सलेम जिले में कावेरी नदी पर बनाया गया बांध जिसके उत्तर में स्टैंली बांध स्थित है। कावेरी नदी पर ही धर्म पूरी जिले में होगेनिकल प्रपात स्थित हैं।
शेवाराय पहाड़ियां – सलेम जिले में स्थित पहाड़िया जिनमें लोहे के निक्षैप है। इसके अतिरिक्त यहां चित्तेरी तथा कलरायन की पहाड़ियां महत्वपूर्ण है।

सलेम – तमिलनाडु का एक अन्त स्थलीय जिला जो लोह अयस्क निक्षेप, उत्खनन तथा लौह इस्पात उद्योग के लिए प्रसिद्ध है। यहां सर्वोत्तम प्रकार का कॉइल तैयार किया जाता है।
विवेकानंद रॉक – कन्याकुमारी के दक्षिण स्थित प्राचीन चट्टानों का एक द्वीप जान ध्यान करने के पश्चात स्वामी विवेकानंद शिकागो सर्वधर्म सम्मेलन हेतु गये। यहां विवेकानंद स्मारक स्थित है।
वेलिंगटन – तमिलनाडु के नीलगिरी जिले में स्थित एक पर्वत पर्यटक स्थल जो उत्तम किस्म की चाय के उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। यहां भारतीय डिफेंस स्टाफ कॉलेज स्थित है।

दक्षिण भाग

टीवू – तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले के दक्षिण मन्नार की खाड़ी में स्थित कोरल दीप है।
ताम्रपर्नी नदी – तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले की पश्चिम सीमा से निकल कर पूर्व में तूतीकोरिन जिले से बहती मन्नार की खाड़ी में गिरने वाली नदी है।
तूतीकोरिन – तमिलनाडु का पूर्वी तट पर स्थित एक जिला जो पूर्वी तट का एक वृहद पत्तन नगर तथा नमक उत्पादक जिला है।
तंजौर – तमिलनाडु का चावल उत्पादक एक जिला जो कावेरी डेल्टा में स्थित है इसे तमिलनाडु का धान का कटोरा (Rice Bowl of Tamil Nadu) कहा जाता है।

दोदाबेट्टा – नीलगिरी जिले में तमिलनाडु की सबसे ऊंची चोटी 2636 मीटर ऊंची है। जहा ऊटी एक प्रसिद्ध पर्वतीय पर्यटन स्थल स्थित है।
नवेली – तमिलनाडु के दक्षिण अर्काट जिले में स्थित लिग्नाइट कोयले की सबसे बड़ी खान जिसका अधिकांश कोयला निर्यात कर दिया जाता है।
नीलगिरी – तमिलनाडु का एक जिला जहां पश्चिमी एवं पूर्वी घाट पर्वत मिलते हैं इसे नीलगिरी का घाट कहा जाता है।
पंबन द्वीप – रामनाथपुरम जिले का एक द्वीप जिस पर रामेश्वर धार्मिक स्थल तथा उसके पूर्व में धनुषकोटी मत्स्ययन नगर स्थित है।
पालनी – तमिलनाडु के डिंडीगुल अन्ना जिले में स्थित पहाड़िया जिसके दक्षिण में 2336 मीटर ऊंचा कोडाईकनाल पर्यटक पर्वतीय नगर स्थित है।

यह भी पढ़िए:

भोपाल शहर का इतिहास और भोपाल के 6 सर्वश्रेष्ठ पर्यटन स्थल

खाड़ी:

पाक खाड़ी – भारत श्रीलंका के मध्य स्थित एक जलराशि जो पंबन चैनल द्वारा मन्नार की खाड़ी से तथा पाक जलसंधि द्वारा बंगाल की खाड़ी से संबद्ध हैं।
पीछावरम – तमिलनाडु के दक्षिण अर्काट जिले में मैंग्रोव पारिस्थितिक तंत्र प्रबंधन के लिए प्रसिद्ध एक स्थल है। दक्षिण पॉइंट केलीमिरे को मैंग्रोव प्रबंधन क्षेत्र एवं नम भूमि क्षेत्र घोषित किया गया।
मदुरई – तमिलनाडु का एक जिला जो मीनाक्षी मंदिर के लिए प्रसिद्ध है, यह बैगेई नदी के तट पर स्थित है।

मन्नार की खाड़ी – भारत श्रीलंका के बीच स्थित एक खाली जिसका नामकरण श्रीलंका के नारी के आधार पर किया गया है या जेब मंडली भंडार तथा राष्ट्रीय समुद्र पार्क स्थित है।अनईमलाई – तमिलनाडु के कोयंबटूर जिले में स्थित पश्चिमी घाट पर्वत श्रेणी, जिस के दक्षिण में अलीयर झील स्थित है।
अवाडी – चेन्नई शहर का औद्योगिक क्षेत्र जहां आयुध फैक्ट्री में अर्जुन टैंक का निर्माण हुआ है।

यह भी पढ़िए:

All Countries: सभी देशो के प्रमुख मैदानों और उनके खेलो की सूची

जिले:

आदम पुल – तमिलनाडु के रामनाथपुरम जिले के पंबन द्वीप तथा श्रीलंका के मन्नार द्वीप के मध्य स्थित समुद्री निक्षेप का उथला भाग।
कच्चातिवु – रामनाथपुरम के पंबन द्वीप के उत्तर स्थित भाग का एक प्रवाल द्वीप जिसे श्रीलंका को पट्टे पर दिया गया है। तमिलनाडु राज्य का इतिहास
कन्याकुमारी – भारतीय मुख्य भूमि का दक्षिणतम जिला तथा बिंदु 8°4 जो उत्तरी अक्षांश पर स्थित है तथा जहां अरब सागर, कन्याकुमारी के पश्चिम मेंक्रोकोडाइल रॉक तथा नयाम रॉक छोटे-छोटे द्वीप पर स्थित है।
कराईकल – तमिलनाडु के नागपट्रिटनम्र जिले के पूर्वी तट पर स्थित पुदुचेरी जिला यहां चक्रवात अन्वेषी रडार केंद्र स्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *